Content on this page requires a newer version of Adobe Flash Player.

Get Adobe Flash player

E-Mail: tehelkanews.com@gmail.com, Phone: 073073 26000  
 ¤ ਮੋਦੀ ਅਤੇ ਸ਼ੀ ਜਿਨਪਿੰਗ ਦੇ ਵਿਚਕਾਰ ਸ਼ਿਖਰ ਵਾਰਤਾ ਅੱਜ  ¤ ਚੀਨੀ ਸੈਨਾ ਦੀ ਲਦਾਖ਼ \'ਚ ਘੁਸਪੈਠ ਕਾਰਨ ਭਾਰਤ ਵਲੋਂ ਸੈਨਾ ਅਤੇ ਆਈ.ਟੀ.ਬੀ.ਪੀ. ਦੇ 2 ਹਜ਼ਾਰ ਜਵਾਨ ਤਾਇਨਾਤ  ¤  ਸੀਟਾਂ ਦੀ ਵੰਡ ਨੂੰ ਲੈ ਕੇ ਸ਼ਿਵ ਸੈਨਾ ਅਤੇ ਭਾਜਪਾ ਵਿਚਕਾਰ ਕਸ਼ਮਕਸ਼ ਜਾਰੀ  ¤ ਮੋਦੀ-ਜਿਨਫਿੰਗ ਬੈਠਕ \'ਚ ਘੁਸਪੈਠ ਦਾ ਮੁੱਦਾ ਚੁੱਕਿਆ ਗਿਆ  ¤ ਮੋਦੀ ਸਰਕਾਰ ਦੇ 100 ਦਿਨ \'ਤੇ ਕਾਂਗਰਸ ਵਲੋਂ ਕਿਤਾਬਚਾ ਜਾਰੀ  ¤  ਜੰਮੂ ਕਸ਼ਮੀਰ ਲਈ ਜਮਾਤ ਅਹਿਮਦੀਆ ਵਲ ਰਾਹਤ ਸੱਮਗਰੀ ਦੇ ਤਿੰਨ ਟੱਰਕ ਰਵਾਨਾ।  ¤ ਦੋ ਮੋਟਰ ਸਾਈਕਲ ਅਤੇ ਬਿਜਲੀ ਟਰਾਸਫਾਰਮਰਾ ਵਿਚੋ ਚੋਰੀ ਕੀਤਾ ਤੇਲ ਅਤੇ ਤਾਂਬੇ ਦੀਆ ਤਾਰਾ ਬਰਾਮਦ  ¤ ਨੋਜਵਾਨ ਦੁਸ਼ਹਿਰਾ ਕਮੇਟੀ ਦੀ ਮੀਟੰਗ ਹੋਈ।  ¤  सौ अरबपतियों के साथ भारत छठे पायदान पर  ¤  लौटते मानसून से बढ़ीं रबी की उम्मीदें  ¤  सेंसेक्स में 118 अंकों की गिरावट  ¤  किसी टीवी शो में नहीं जाएंगे रितिक रोशन!  ¤  गायब हो गई अमित शाह की चार्जशीट!  ¤  दैनिक जागरण के पत्रकार नरेंद्र अब खतरे से बाहर  ¤  क्या ब्रिटेन से अलग हो जाएगा स्कॉटलैंड? जनमत संग्रह आज  ¤  जन-धन योजना में \'रुपे\' कार्ड से ही मिलेगा एक्सीडेंटल क्लेम  ¤  मोदी शासन के सौ दिन पर कांग्रेस ने पेश की काली किताब  ¤  वियतनाम-भारत रिश्तों के बीच न आए चीन  ¤  सोनाली बेंद्रे बनीं सबसे महंगी टीवी अभिनेत्री!  ¤  अंपायर ने धौनी को ये फैसला लेने से रोका और फिर....  ¤ . 
 
News Category

बांग्लादेश में अश्लील साहित्य बेचने पर होगी 10 साल की सजा


Date: Jan 04, 2012

ढाका. (03/01/12)

एजेंसी

बांग्लादेश में सोमवार को पोर्नोग्राफी (अश्लील साहित्य)को कण्ट्रोल करने के मकसद से एक क़ानूनी मसविदे को मंजूरी दी गई है। इस मसविदे में कानून तोड़ने वालों के लिए लम्बी सजा का प्रावधान किया गया है।



बांग्लादेश की प्रधानमन्त्री शेख हसीना के प्रवक्ता अबुल कलम आजाद ने बताया कि पोर्नोग्राफी नियंत्रण कानून 2011 मसविदे में अधिकतम 10 सालों की सजा और 500,000 टका (बंगलादेशी मुद्रा) (छह हजार डालर ) जुर्माने का प्रावधान किया गया है।





आज़ाद ने कहा कि पोर्नोग्राफी समाज में वायरस की तरह फ़ैल चुका है। उन्होंने कहा कि इस कानून का मकसद युवाओं और निर्दोष महिलों की इज्जत की रक्षा करना है।



आजाद ने कहा कि बिल में कानून तोड़ने वालों के लिए जेल और जुर्माने दोनों का प्रावधान है। सरकार ने अश्लील समग्री को युवाओं और महिलाओं तक पहुंचने से रोकने के लिये यह कदम उठाया है। उन्होंने बताया कि अश्लील सामग्री का इंटरनेट और मोबाइल फोन के जरिए युवाओं और किशोरों के बीच किसी रोग के संक्रमण की तरह काफी तेजी से प्रचार- प्रसार हो रहा है जो उनके भविष्य के लिए बेहद घातक है।



आजाद ने कहा कि कई मामलों में पुलिस दोषियों के खिलाफ सिर्फ इस वजह से कार्रवाई नहीं कर पाती थी कि देश के कानून के तहत अश्लील वीडियो वगैरह बनाने और बेचने वालों पर

मुकदमा चलाने का प्रावधान नहीं है। इस कानून के बनने के बाद ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।



आजाद ने बताया कि इस प्रकार के अपराधों को स्पेशल कोर्ट या ट्रिब्यूनल में चलाया जाएगा।



गौरतलब है कि देश में कई महिला सेलेब्रिटी के सेक्स टेप स्कैंडल के सामने आने के बाद से अश्लीलता का प्रचार-प्रसार रोकने के लिए किसी कड़े कानून की काफी जरूरत महसूस हो रही थी। इस

स्कैंडल के पीड़ितों ने आरोप लगाया था कि वीडियो के साथ छेड़छाड़ करके अथवा गलत तरीके से उनकी फिल्म बना कर उनकी छवि खराब करने की कोशिश की गई है।



बांग्लादेश में सेक्स वर्कर्स के संरक्षण के लिए कानून हैं और इन कानूनों को उच्च न्यायलय ने भी एक दशक पहले बरक़रार रखा था।






© 2014 TehelkaNews.com
eXTReMe Tracker