Content on this page requires a newer version of Adobe Flash Player.

Get Adobe Flash player

E-Mail: tehelkanews.com@gmail.com, Phone: 073073 26000  
 ¤ ਬਦਾਯੂੰ ਮਾਮਲਾ: ਦੋਵਾਂ ਲੜਕੀਆਂ ਨੇ ਕੀਤੀ ਸੀ ਖ਼ੁਦਕੁਸ਼ੀ , ਨਹੀਂ ਹੋਈ ਸੀ ਹੱਤਿਆ-ਸੀ ਬੀ ਆਈ  ¤ ਆਸਟ੍ਰੇਲਿਆਈ ਬੱਲੇਬਾਜ਼ ਫਿਲਿਪ ਹਿਊਜ ਦੀ ਮੌਤ  ¤ ਭਾਰੀ ਮਾਤਰਾ \'ਚ ਗੁਹਾਟੀ \'ਚੋਂ ਵਿਸਫੋਟਕ ਪਦਾਰਥ ਬਰਾਮਦ  ¤ ਜੰਮੂ - ਕਸ਼ਮੀਰ \'ਚ ਫ਼ੌਜ ਅਤੇ ਅੱਤਵਾਦੀਆਂ ਵਿਚਕਾਰ ਮੁੱਠਭੇੜ , ਇੱਕ ਜਵਾਨ ਸ਼ਹੀਦ , 2 ਅੱਤਵਾਦੀ ਢੇਰ  ¤ ਕਾਠਮੰਡੂ \'ਚ ਮਿਲੇ ਪ੍ਰਧਾਨ ਮੰਤਰੀ ਨਰਿੰਦਰ ਮੋਦੀ ਅਤੇ ਨਵਾਜ਼ ਸ਼ਰੀਫ਼ , ਨੇਪਾਲੀ ਪ੍ਰਧਾਨ ਮੰਤਰੀ ਕੋਇਰਾਲਾ ਨੇ ਕਰਾਈ ਮੁਲਾਕਾਤ  ¤ ਵਿਦੇਸ਼ਾਂ \'ਚ ਕਾਲਾ ਧਨ ਜਮਾ ਕਰਵਾਉਣ ਵਾਲਿਆਂ ਨੂੰ ਜੇਲ੍ਹ ਭੇਜੇਗੀ ਸਰਕਾਰ-ਰਾਮ ਵਿਲਾਸ  ¤  स्टार को फिल्में ढूंढ़ती हैं, निर्माता नहीं  ¤  भाजपा कनफुंकवा पार्टी : नीतीश  ¤ आडवाणी का विजय अभियान जारी, चावला बाहर  ¤  प्रियंका चोपड़ा की प्रॉपर्टी में चल रहा था सेक्स रैकेट  ¤  ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर फिल ह्यूज की दर्दनाक मौत  ¤  धर्मांतरण के बाद युवती से सामूहिक दुष्कर्म  ¤  सार्क सम्‍मेलन के अंतिम दिन मोदी और शरीफ ने मिलाया हाथ  ¤  सुप्रीम कोर्ट ने पूछा, क्‍यों न रद हो सीएसके फ्रेंचाइजी  ¤  अरनिया में सेना व आतंकियों के बीच मुठभेड, जवान शहीद  ¤ Militants kill three polio vaccination workers and their driver in Pakistan  ¤ Shocking: Indian-origin Islamic State member poses with AK-47 and his new born  ¤ Spain’s Health Minister Resigns Over Corruption Inquiry  ¤ Coal mine explosion in China kills 11: Xinhua  ¤ Ferguson starts to calm after two days of protests  ¤ . 
 
News Category

बांग्लादेश में अश्लील साहित्य बेचने पर होगी 10 साल की सजा


Date: Jan 04, 2012

ढाका. (03/01/12)

एजेंसी

बांग्लादेश में सोमवार को पोर्नोग्राफी (अश्लील साहित्य)को कण्ट्रोल करने के मकसद से एक क़ानूनी मसविदे को मंजूरी दी गई है। इस मसविदे में कानून तोड़ने वालों के लिए लम्बी सजा का प्रावधान किया गया है।



बांग्लादेश की प्रधानमन्त्री शेख हसीना के प्रवक्ता अबुल कलम आजाद ने बताया कि पोर्नोग्राफी नियंत्रण कानून 2011 मसविदे में अधिकतम 10 सालों की सजा और 500,000 टका (बंगलादेशी मुद्रा) (छह हजार डालर ) जुर्माने का प्रावधान किया गया है।





आज़ाद ने कहा कि पोर्नोग्राफी समाज में वायरस की तरह फ़ैल चुका है। उन्होंने कहा कि इस कानून का मकसद युवाओं और निर्दोष महिलों की इज्जत की रक्षा करना है।



आजाद ने कहा कि बिल में कानून तोड़ने वालों के लिए जेल और जुर्माने दोनों का प्रावधान है। सरकार ने अश्लील समग्री को युवाओं और महिलाओं तक पहुंचने से रोकने के लिये यह कदम उठाया है। उन्होंने बताया कि अश्लील सामग्री का इंटरनेट और मोबाइल फोन के जरिए युवाओं और किशोरों के बीच किसी रोग के संक्रमण की तरह काफी तेजी से प्रचार- प्रसार हो रहा है जो उनके भविष्य के लिए बेहद घातक है।



आजाद ने कहा कि कई मामलों में पुलिस दोषियों के खिलाफ सिर्फ इस वजह से कार्रवाई नहीं कर पाती थी कि देश के कानून के तहत अश्लील वीडियो वगैरह बनाने और बेचने वालों पर

मुकदमा चलाने का प्रावधान नहीं है। इस कानून के बनने के बाद ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।



आजाद ने बताया कि इस प्रकार के अपराधों को स्पेशल कोर्ट या ट्रिब्यूनल में चलाया जाएगा।



गौरतलब है कि देश में कई महिला सेलेब्रिटी के सेक्स टेप स्कैंडल के सामने आने के बाद से अश्लीलता का प्रचार-प्रसार रोकने के लिए किसी कड़े कानून की काफी जरूरत महसूस हो रही थी। इस

स्कैंडल के पीड़ितों ने आरोप लगाया था कि वीडियो के साथ छेड़छाड़ करके अथवा गलत तरीके से उनकी फिल्म बना कर उनकी छवि खराब करने की कोशिश की गई है।



बांग्लादेश में सेक्स वर्कर्स के संरक्षण के लिए कानून हैं और इन कानूनों को उच्च न्यायलय ने भी एक दशक पहले बरक़रार रखा था।






© 2014 TehelkaNews.com
eXTReMe Tracker